Mon Feb 20 20:06:41

अजय मकान करेंगे नेता प्रतिपक्ष का चयन, सामने आ सकता है नया नाम
भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के चयन को लेकर कांग्रेस विधायक दल की बैठक सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में होगी। नेता प्रतिपक्ष के चयन के लिए ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक अजय माकन भोपाल पहुंच चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अजय मकान यहां सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में नए नेता प्रतिपक्ष के लिए विधायकों से चर्चा करेंगे। हालांकि इस बात की संभावना कम है कि बैठक के बाद किसी का नाम सार्वजनिक किया जाएगा। यह माना जा रहा है कि इस मामले में अंतिम फैसला माकन के दिल्ली पहुंचने के बाद पार्टी आलाकमान से उनकी अंतिम मुलाकात के बाद ही हो पाएगा। नेता प्रतिपक्ष की दौड़ में वरिष्ठ नेता महेंद्र सिंह कालूखेड़ा, अजय सिंह, मुकेश नायक, बाला बच्चन और रामनिवास रावत का नाम शामिल हैं।
फिलहाल पार्टी का फोकस 22 के प्रदर्शन पर
फिलहाल कांग्रेस का ध्यान 22 फरवरी होने वाले विधानसभा के घेराव पर है। इसीलिए नेता प्रतिपक्ष को लेकर भोपाल में अंतिम निर्णय की संभावना कम है। यदि इस बीच नेता प्रतिपक्ष के नाम की घोषणा होती है तो उसका प्रभाव प्रदर्शन पर पड़ सकता है। कांग्रेस ने इस कार्यक्रम को प्रतिष्ठा का प्रश्न बना रखा है। बकौल प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश के अनुसार फोकस बुधवार के प्रदर्शन पर है। उनका कहना है कि यह प्रदर्शन जंगी होगा जिसमें प्रदेश भर से कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल होंगे।
सामने आ सकता है कोई नया नाम
चर्चा यह भी है कि प्रदेश अध्यक्ष पद के दावेदार कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़े किसी नेता प्रतिपक्ष बनने पर वह व्यक्ति प्रदेश अध्यक्ष बनने से वंचित हो सकता है। पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ ने अब तक अपने पत्ते नहीं खोले है। वहीं, सिंधिया भी इस मामले में मौन हैं। ऐसी स्थिति में यह भी संभव है कि जो नाम चर्चा में है उनसे अलग हटकर कोई नया नाम सामने आ सकता है।

उदयन को लेकर भोपाल पहुंची रायपुर पुलिस, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही सेल्फी
भोपाल। माता-पिता और प्रेमिका के हत्यारे उदयन की रायपुर पुलिस के साथ सेल्फी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। तस्वीर में साफ नजर आ रहा हैं कि पुलिस भी किसी सेलिब्रिटी की तरह उदयन के साथ सेल्फ़ी ले रही है। गौरतलब है कि पूछताछ के अन्य सबूत जुटाने के लिए सोमवार को रायपुर पुलिस उसे सड़क मार्ग से लेकर भोपाल पहुंची।
विदेश में नौकरी का दिया था झांसा
भोपाल के साकेत नगर स्थित मकान में प्रेमिका आकांक्षा की हत्या कर शव पर चबूतरा बनाने वाला उदयन विदेशी कंपनियों की फर्जी वेबसाइट दिखाकर युवक-युवतियों को विदेशों में नौकरी का झांसा देता था। उसने भोपाल की भी दो युवतियों को अमेरिका में नौकरी दिलाने का झांसा दिया था। इनमें से एक के बारे में पुलिस ने जानकारी भी जुटा ली है। दूसरी युवती को ट्रेस किया जा रहा है। यह नए खुलासे रायपुर पुलिस की पूछताछ में सामने आए। उदयन ने माता-पिता की हत्या कर शव गार्डन में दफनाने का अपराध भी स्वीकार कर लिया है। अब यही बयान मजिस्ट्रेट के सामने करवाया जाएगा। सोमवार को साकेत नगर के मकान से उदयन के माता-पिता के बैंक खाते, पेंशन और पासपोर्ट के अलावा अन्य दस्तावेज जब्त किए जाने हैं।
बैंक, रजिस्ट्री दफ्तर और पेंशन विभाग से होगी पूछताछ
एसपी सिटी रायपुर विजय अग्रवाल ने बताया कि उदयन ने जो फर्जी दस्तावेज बनाए हैं इन्हें जब्त कर संबंधित लोगों से पूछताछ होगी। खाते और पेंशन के मामले में बैंक, रजिस्ट्री दफ्तर और पेंशन विभाग के लोगों के बयान भी लिए जाएंगे।
मजिस्ट्रेट के सामने कोर्ट में लेंगे ब्लड सैंपल, होगा डीएनए टेस्ट
भोपाल से आने के बाद मजिस्ट्रेट के सामने ही उदयन का ब्लड का सैंपल लिया जाएगा। इसे फ्रीज कर जांच के लिए फारेंसिक लैब भेजा जाएगा। ब्लड डीएनए टेस्ट के लिए निकाला जा रहा है। आकांक्षा मर्डर केस में बंगाल में उसका बयान कराया गया है।
रिश्तेदारों ने साधी चुप्पी
उदयन के रिश्तेदारों ने पुलिस से बात करने से इंकार कर दिया है। बंगाल में उसके चाचा और अन्य रिश्तेदारों से बात करने की कोशिश की गई। भोपाल में मौसी और मामा से भी पुलिस ने संपर्क किया लेकिन कोई बात करने को तैयार नहीं।
उदयन ने ट्रांसफर करवा लिए थे माता-पिता के खाते
उदयन ने माता-पिता की हत्या के बाद उनके बैंक खाते भोपाल ट्रांसफर कर लिए थे। उनके नाम से नई पासबुक, चेक और एटीएम कार्ड भी जारी करा लिया था। इन्हीं से वह पैसे निकालकर उड़ा रहा था। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि सारे दस्तावेज उसके मकान में ही रखे हैं। उसने खुद के नाम से भी दो नए खाते खुलवाए थे। रायपुर पुलिस को उम्मीद है कि मकान की तलाशी के दौरान उदयन के रायपुर में किए गए अपराध से संबंधित काफी सबूत मिल सकते हैं।
pak की टेरर लिस्ट में आए हाफिज पर अब इंटरनेशनल लेवल पर कार्रवाई हो: भारत
नई दिल्ली.मुंबई अटैक के मास्टरमाइंड हाफिज सईद और उसके साथियों को पहली बार पाकिस्तान की आतंकी लिस्ट में डालने पर भारत ने खुशी जताई। सोमवार को जारी एक बयान में फॉरेन मिनिस्ट्री ने कहा- ''सईद के खिलाफ हुई ये कार्रवाई आतंकवाद को रोकने और शांति के लिए उठाया पड़ोसी देश का पहला कदम है। सईद के खिलाफ इंटरनेशनल लेवल पर एक्शन लिया जाए।'' बता दें कि पिछले दिनों सईद के पाकिस्तान छोडऩे पर रोक लगाई गई थी और उसे घर में नजरबंद भी किया गया।
सईद इंटरनेशनल आतंकी...
- रूश्व्र के स्पोक्सपर्सन विकास स्वरूप ने कहा, हाफिज सईद एक इंटरनेशनल आतंकी है। मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है, जो पाकिस्तान से लश्कर और जमात उद दावा के जरिए आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे रहा है।
- सईद और उसके ऑर्गेनाइजेशन्स के साथियों के खिलाफ इंटरनेशनल लेवल पर कड़े एक्शन की जरूरत है। पहला कदम पड़ोसी देश ने लोकल लेवल पर उठाया है। आतंक को रोकने और इलाके में शांति के लिए यह अहम होगा।
अब तक क्या हुआ?
- अमेरिका में ट्रम्प सरकार बनने के बाद पाकिस्तान ने सईद समेत उसके ऑर्गेनाइजेशन्स जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत के 37 एक्टिव मेंबर्स के देश छोडऩे पर रोक लगाई।
- पिछले दिनों पाकिस्तान ने सईद समेत उसके साथी 4 बड़े नेताओं को घर में नजरबंद किया गया।
- 18 फरवरी को पहली बार पाकिस्तान ने हाफिज सईद को आतंकी माना।
- पंजाब प्रॉविंस की सरकार ने सईद और उसके एक करीबी सहयोगी काजी काशिफ का नाम एंटी-टेररिज्म एक्ट (्रञ्ज्र) के 4ह्लद्ध शेड्यूल में शामिल किया।
कौन है हाफिज सईद?
- आतंकी हाफिज सईद जमात-उद-दावा और लश्कर का सरगना है।
- पाक सरकार ने उसके खिलाफ एक्शन हाल ही के 8 आतंकी हमलों में 100 से ज्यादा लोगों की जान जाने के बाद लिया है।
- नवंबर 2008 में मुंबई अटैक के बाद भी सईद को पाक में नजरबंद किया था। वह भारत में हमलों का मास्टरमाइंड है, लेकिन पाक कोर्ट ने उसे 2009 में बरी कर दिया था।
- सईद के सिर पर अमेरिका ने 10 मिलियन का इनाम घोषित कर रखा है।
प्रधानमंत्री श्री मोदी अल्प प्रवास पर खजुराहो आये
मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं राज्यमंत्री श्रीमती यादव ने की अगवानी
छतरपुर. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी आज अल्प प्रवास पर खजुराहो आये। खजुराहो हवाई अड्डा पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं राज्य सरकार द्वारा नामित मिनिस्टर इन वेटिंग पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती ललिता यादव ने प्रधानमंत्री श्री मोदी को पुष्पगुच्छ प्रदान कर अगवानी की। प्रधानमंत्री श्री मोदी प्रात: 11 बजे खजुराहो हवाई अड्डा पर पहुंचे। यहां से वह प्रात: 11.10 बजे हेलीकॉप्टर द्वारा उरई, उत्तर प्रदेश में एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिये रवाना हुये। इस अवसर पर सांसद टीकमगढ़ श्री वीरेन्द्र खटीक, विधायक सर्वश्री मानवेन्द्र सिंह, आर.डी. प्रजापति, श्रीमती रेखा यादव एवं पुष्पेन्द्र नाथ पाठक, बुंदेलखण्ड विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री विजय बहादुर सिंह बुंदेला, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राजेश प्रजापति, भाजपा के जिलाध्यक्ष श्री पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष छतरपुर श्रीमती अर्चना सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधि प्रधानमंत्री श्री मोदी की अगवानी के लिये मौजूद थे।      आईजी श्री सतीश कुमार सक्सेना, डीआईजी श्री के.सी. जैन, कलेक्टर श्री रमेश भण्डारी, पुलिस अधीक्षक श्री ललित शाक्यवार सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने भी प्रधानमंत्री श्री मोदी की अगवानी की। प्रधानमंत्री श्री मोदी के उरई प्रस्थान करने के पश्चात् मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खजुराहो हवाई अड्डा पर उपस्थित जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से चर्चा की। इस अवसर पर जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्थायें की गई थीं।  

पलानीसामी के विश्वास मत के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके
चेन्नई। तमिलनाडु में शनिवार को विश्वास मत जीतकर राज्य के नए मुख्यमंत्री बने पलानीसामी की मुश्किलें अभी कम नही हुई हैं। खबरों के अनुसार विश्वास मत करवाए जाने के तरीके से नाराज डीएमके ने इसके खिलाफ मद्रास हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। हाईकोर्ट डीएमके की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करेगी। बता दें की राज्यपाल के विद्यासागर राव द्वारा 15 दिन का समय दिए जाने के बाद पलानीसामी ने शनिवार को सदन में बहुमत साबित करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। विश्वास मत के दौरान सदन में विपक्षी दल डीएमके ने जमकर हंगामा करते हुए इसका विरोध भी किया था। डीएमके ने कांग्रेस और पन्नीरसेल्वम के साथ मांग की थी कि वोट गुप्त मतदान से हो लेकिन स्पीकर धनापाला ने यह मांग ठुकरा दी।

-------------
टूंडला में मालगाड़ी से टकराई कालिंदी एक्सप्रेस, कई ट्रेनों के रूट बदले
टूंडला। उत्तर प्रदेश के टूंडला में तब एक बड़ा हादसा टल गया जब कालिंदी एक्सप्रेस की टक्कर एक मालगाड़ी से हो गई। इस दुर्घटना में तीन लोगों के घायल होने की खबर है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नही हुई है। टूंडला से दिल्ली की ओर जा रही कालिंदी एक्सप्रेस (14723) कल देर रात करीब तीन बजे पश्चिमी आउटर पर उसी लाइन पर आ रही मालगाड़ी से टकरा गई। इससे जोरदार धमाका हुआ। दुर्घटना में कई यात्रियों के घायल हुए हैं। बताया गया है कि दिल्ली जा रही कालिंदी सवा दो बजे टूंडला स्टेशन को पार करने के बाद पश्चिमी आउटर पर पहुंची थी, उसी पटरी पर मालगाड़ी आ रही। स्पीड पकड़ रही कालिंदी का इंजन मालगाड़ी से एसएलआर कोच में जा घुसा। इससे जोर का विस्फोट सा हुआ। दोनों गाडिय़ां पटरी से उतर गईं। कालिंदी के चार कोच तो पूरी तरह पटरी से नीचे आ गए। धमाके के साथ सोते हुए यात्री सीटों से नीचे जा गिरे। इससे कई यात्रियों के चोट आई हैं। यात्रियों में चीख पुकार मच गई। ट्रेन दुर्घटना की जानकारी होते ही खेतों में पानी लगा रहे किसान दौड़े। दुर्घटना की सूचना कंट्रोल रूम को दी गई। मंडल रेल यातायात प्रबंधक डॉ. शिवम शर्मा अधिकारियों की टीम के साथ पहुंचे। फोर्स बुला लिया गया। फीरोजाबाद से पहुंचीं एंबुलेंस घायलों को लेकर अस्पताल गईं। पूरा रेल यातायात ठप हो गया, जो सुबह चार बजे तक चालू नहीं हुआ था। कोच को पटरी पर लाने के क्रेन पहुंच गई थीं। इंजन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था।
बदले कई ट्रेनों के रूट
हादसे की वजह से दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन ठप हो गई जिसके चलते कई गाडिय़ों का रूट बदला गया है। टूंडला से दिल्ली की ओर जा रही कालिंदी एक्सप्रेस के फीरोजाबाद के टूंडला के पास एक मालगाड़ी के टकराने के कारण कई ट्रेनों का रूट बदल दिया गया है। इसके साथ ही करीब एक दर्जन ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया है। दिल्ली-हावड़ा रूट पर फिलहाल ट्रैक को दुरुस्त करने का काम काफी तेजी से चल रहा है। माना जा रहा है कि आज दोपहर तक इस रूट पर यातायात सुगम हो जाएगा। 14723-कालिंदी एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त के इंजन और दुर्घटनाग्रस्त कोच को छोड़कर ट्रेन आगरा से दिल्ली होकर भिवानी के लिए रवाना की गई है। टूंडला में हुए ट्रेन हादसे के बाद देश के सबसे अधिक चलने वाले दिल्ली से हावड़ा के रेल रूट में अप तथा डाउन डाउन लाइन प्रभावित हैं। सर्वाधिक प्रभावित मार्ग दिल्ली-कानपुर रेलवे ट्रैक है। इसके कारण दर्जन भर ट्रेन अलीगढ़ में फंसी हैं। कई ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया गया है जिससे यात्री परेशान हैं। कानपुर से दिल्ली जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस के साथ लखनऊ से दिल्ली जाने वाली गोमती एक्सप्रेस को रद कर दिया गया है। इसके साथ ही दर्जनों ट्रेनों का रूट डायवर्ट कर उनको मुरादाबाद से निकाला जा रहा है। गोरखधाम सहित कई ट्रेन बीच रास्ते फंस गई। कालिंदी एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण नार्थ सेंट्रल रेलवे ने तीन ट्रेनों को डायवर्ट किया। इसका कारण राजेंद्रनगर पटना-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस डायवर्ट, अब टेन कानपुर-लखनऊ,मुरादाबाद-दिल्ली होकर रवाना होगी। आज राजेंद्रनगर पटना-सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस डायवर्ट, वाया झांसी-आगरा, पल्वल होकर होगी रवाना, बरौनी-नई दिल्ली वैशाली एक्सप्रेस डायवर्ट, वाया झांसी-आगरा पल्वल होकर रवाना होगी।
हेल्पलाइन नम्बर जारी
टूंडला में कालिंदी एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त के बाद नॉर्थ सेंट्रल रेलवे ने हेल्पलाइन नम्बर जारी किया। नंबर इस प्रकार हैं- 9412721701, 9412721702, चुनार-05443-222487, मिर्जापुर-05442-220095, इलाहाबाद-0532-2408149, फतेहपुर-05180-222025, कानपुर-0512-2323015, टूंडला-05612-220337, अलीगढ़-0571-2403458, इटावा-05688-266382, खुर्जा जंक्शन-05738-253084, हाथरस-05722-242741।
--------------
मोदी के रमजान वाले बयान के खिलाफ चुनाव आयोग जाने की तैयारी में विपक्ष
नई दिल्ली। यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान राजनीतिक दल विपक्षी नेताओं के बयानों को लेकर भी सतर्क हैं और मौके की तलाश में रहते हैं। ऐसा ही एक मौका पीएम मोदी के बयान को लेकर मिल गया है। दरअसल पीएम मोदी के फतेहपुर में दिए रमजान और दिवाली वाले बयान पर पूरा विपक्ष उनके खिलाफ हो गया है और इसकी आलोचना की है। खबर है कि इस बयान को लेकर विपक्ष चुनाव आयोग से भी शिकायत करने की तैयारी में है। बता दें कि पीएम मोदी ने रविवार को फतेहपुर में रैली को संबोधित करते हुए कहा ताकि धर्म के नाम पर भेदभाव नहीं होना चाहिए। अगर रमजान में बिजली मिल रही है तो दिवाली पर भी मिलनी चाहिए, गांव में अगर कब्रस्तान के लिए जमीन है तो श्मशान के लिए भी होनी चाहिए। पीएम के इस बयान को विपक्षी दलों ने ध्रूवीकरण की कोशिश करार देते हुए इसकी कड़ी निंदा की है। बयान को लेकर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा है कि आयोग को इसका संज्ञान लेना चाहिए क्योंकि यह आयोग के निर्देशों का उल्लंघन है। वहीं कांग्रेस के एक अन्य नेता केसी मित्तल ने कहा है कि उनकी पार्टी बयान के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत करेगी। सीपीएम प्रमुख सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर लिखा की यही है इनका असली चेहरा, चरित्र, चाल और चिंतन? हिंदू-मुस्लिम के नाम पर जनता को बांटने का नतीजा यह देश एक बार 1947 में देख चुका है। क्या मोदी देश को वहीं वापस ले जाना चाहते हैं? दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि मोदी जी का ये बयान दिखाता है की भाजपा यूपी में बुरी तरह हार रही है और मोदी जी बहुत नर्वस हैं। वहीं राज्य की सत्ताधारी पार्टी सपा ने कहा है कि हार के डर से नरेंद्र मोदी ध्रवीकरण का कार्ड खेलना चाह रहे हैं।
---------------
स्टोक्स को पुणे ने 14.5 करोड़ खरीदा, मिल्स बिके 12 करोड़ में
बेंगलुरु। इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को आईपीएल 10 की नीलामी में पुणे सुपरजायंट्?स ने 14.5 करोड़ रुपए में खरीदा। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज टाइमल मिल्स को 12 करोड़ में आरसीबी ने खरीदा। ट्रेंट बोल्ट को केकेकआर ने 5 करोड़ में और कगिसो रबाडा को डेयरडेविल्स ने 5 करोड़ में खरीदा। इयोन मॉर्गन को किंग्स इलेवन पंजाब ने 2 करोड़ रुपए में खरीदा जबकि एंजेलो मैथ्यूज को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 2 करोड़ में हासिल किया। आईपीएल 2017 के लिए क्रिकेटर्स की नीलामी सोमवार को शुरू हुई। सबसे पहले बल्लेबाजों के समूह की बोली लगाई गई। इस ग्रुप में सिर्फ मॉर्गन को खरीदा गया। मॉर्गन की बेस प्राइज 2 करोड़ रुपए थी और उन्हें किंग्स इलेेवन ने बेस प्राइज पर खरीदा। इस ग्रुप के मार्टिन गप्टिल, जेसन रॉय, फैज फजल, एलेक्स हेल्स, रॉस टेलर और सौरभ तिवारी को कोई खरीदार नहीं मिला। इंग्लिश ऑलराउंडर स्टोक्स का बेस प्राइस 2 करोड़ रुपए था, लेकिन उन्हें खरीदने के लिए टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। उन्हें हासिल करने के लिए शुरू में दिल्ली और सनराइजर्स भिड़ते नजर आए, लेकिन पुणे ने अचानक मैदान में उतरकर बाजी पलटते हुए उन्हें 14.5 करोड़ में हासिल किया। ऑलराउंडरों की सूची में पवन नेगी को आरसीबी ने 1 करोड़ रुपए में खरीदा। उनका बेस प्राइस 30 लाख रुपए था। उन्हें पिछली बार 8.5 करोड़ में खरीदा गया था। कोरी एंडरसन को दिल्ली डेयरडेविल्स ने बेस प्राइस 1 करोड़ में खरीदा। इरफान पठान, सीन एबॉट और क्रिस जॉर्डन को कोई खरीदार नहीं मिला। 12 करोड़ में बिके मिल्स: तेज गेंदबाजों में टाइमल मिल्स का बेस प्राइस 50 लाख था, लेकिन उन्हें आरसीबी ने 12 करोड़ में खरीदा। तेज गेंदबाजों को अच्छी कीमत मिली। द. अफ्रीका के कगिसो रबाडा को डेयरडेविल्स ने 5 करोड़ में खरीदा। उनकी बेस प्राइस 1 करोड़ थी। इसी प्रकार न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट को 5 करोड़ में केकेआर ने अपने नाम किया। उनकी बेस प्राइस 1.5 करोड़ थी। मिचेल जॉनसन की बेस प्राइस 2 करोड़ थी और उन्हें इसी कीमत पर ?मुंबई इंडियंस ने हासिल किया। ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस की बेस प्राइस 2 करोड़ थी और उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स ने 4.5 करोड़ में अपने दल में शामिल किया।
ऑलराउंडर्स
2 करोड़ के बेस प्राइस वाले इंग्लिश ऑलराउंडर क्रिस वोक्स को केकेआर ने 4 करोड़ 20 लाख में खरीदा। केकेआर इस खिलाड़ी को किसी भी कीमत में पाना चाहती थी, क्योंकि उनकी टीम के हरफनमौला विदेशी खिलाड़ी आंद्रे रसेल पर आईसीसी ने एक साल का बैन लगाया है। भारतीय ऑलराउंडर्स कर्ण शर्मा का बेस प्राइस 30 लाख था, जिन्हें 3 करोड़ 20 लाख में मुंबई इंडियंस ने अपने नाम किया। पिछले साल किंग्स इलेवन पंजाब से खेलने वाले भारतीय ऑलराउंडर रिषी धवन का बेस प्राइस 30 लाख था, जिन्हें 55 लाख में केकेआर ने अपने नाम किया। 50 लाख के बेस प्राइस वाले श्रीलंकन ऑलराउंडर तिषारा परेरा को आश्चर्यजनक रूप से किसी भी टीम ने खरीदने की रुचि नहीं दिखाई। भारतीय ऑलराउंडर परवेज रसूल, कैरीबियाई खिलाड़ी जेसन होल्डर को कोई खरीददार नहीं मिला।
तेज गेंदबाज
30 लाख बेस प्राइस वाले भारतीय तेज गेंदबाज वरूण एरोन को टीम किंग्स इलेवन पंजाब ने 2 करोड़ 80 लाख में हासिल किया। मनप्रीत गोनी अपने बेस प्राइस से दोगुनी कीमत 60 लाख में गुजरात लॉयंस के हुए। पिछले साल पुणे सुपरजायंट्?स की टीम इंडिया से खेलने वाले 30 लाख कीमती टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आरपी सिंह को कोई खरीदार नहीं मिला तो कीवी गेंदबाज मैट हैनरी को पंजाब ने 50 लाख में खरीदा। टीम इंडिया के लिए एक टेस्ट खेल चुके जयदेव उनादकट को पुणे ने उनके बेस प्राइस 30 लाख में अपने नाम किया। भारत के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा की बेस प्राइस 2 करोड़ थी, लेकिन उन्हें किसी ने नहीं खरीदा। स्पिनरों में एल. संदाकन, ईश सोढ़ी, ब्रेड हॉग, प्रज्ञान ओझा और इमरान ताहिर को किसी ने नहीं खरीदा। नीलामी में 352 खिलाड़ी शामिल हैं, जिनमें से अधिक से अधिक 76 को लिया जा सकता है। इन खिलाडिय़ों की खरीदी के लिए फ्रेंचाइजियों के पास 148.33 करोड़ रुपए उपल?ब्ध है। यह दस साल के चक्र की आखिरी नीलामी होगी। इसके बाद अगले साल के टूर्नामेंट के लिए सभी खिलाड़ी फिर से नीलामी पूल में शामिल होंगे।
-------------
जासूसी कांड : रामनिवास से कांग्रेस में पल्ला झाड़ा
रज्जन तिवारी के पकड़े जाने के बाद चर्चा में आई कांग्रेस
पाकिस्तान की खुफिया एजेन्सी आईएसआई के लिये जासूसी करने और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के लिये फण्ड एकत्रित करने के मामले में पकड़े गये कांग्रेस नेता के पुत्र रज्जन तिवारी के मामले में कांग्रेस ने पल्ला झाड़ लिया है। कांग्रेस ने पार्टी को बचाने के लिये दो टूक शब्दों में कहा कि रामनिवास तिवारी न तो कांग्रेस में थे और न ही कांग्रेस में हैं। उल्लेखनीय है कि श्री तिवारी कांग्रेस के सदस्य व सेक्टर प्रभारी रह चुके हैं।
सतना (मारुति एक्सप्रेस)।
राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में संलग्न पाये जाने के बाद एटीएस द्वारा सतना जिले के बलराम सिंह सुहास व राजीव तिवारी उर्फ रज्जन पोंड़ी को गिरफ्तार किया है और केपी यादव पर नजर रखी जा रही है। पकड़े गये देश द्रोहियों के मामले में जहां बलराम को भाजपा, बजरंग दल से जोड़ा गया तो वहीं राजीव तिवारी उर्फ रज्जन को कांग्रेस से जोड़ा गया। बताया गया कि राजीव तिवारी उर्फ रज्जन के पिता रामनिवास तिवारी पोंड़ी सेक्टर के कांग्रेस प्रभारी रह चुके हैं व कांग्रेस के विभिन्न पदों में काम कर चुके हैं। कांग्रेस के सक्रिय सदस्य व सरपंच जैसे महत्वपूर्ण पदों में काम कर चुके हैं। आईएसआई के लिये जासूसी करने व टैरर फंडिंग के मामले में पकड़े गये रज्जन तिवारी पिता रामनिवास तिवारी पोंड़ी का नाम आने के बाद कांग्रेस भी सुर्खियों में आ गयी। कांग्रेस नेताओं ने आनन-फानन में पार्टी को दागदार होने से बचाने के लिये तैयारी कर ली।
बैठक में होगी चर्चा
ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष रणजीत सिंह पटेल ने कहा कि रामनिवास तिवारी पोंड़ी के मामले में पार्टी की आने वाले दिनों में होने वाली बैठक में चर्चा की जायेगी। श्री तिवारी को कांग्रेस से हटाने के लिये पार्टी के जिला संगठन से चर्चा की जायेगी और सभी की सलाह मशविरे के साथ कार्रवाई की जायेगी।
जिले में 110 खातों की होगी जांच
आईएसआई के लिये जासूसी करने वाले और देश में आतंक की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिये फण्ड एकत्र करने वाले बलराम सिंह, राजीव तिवारी रज्जन और केपी यादव के द्वारा जिले के 110 बैंक खातों से किये गये लेन-देन की जांच की जायेगी। बैंक सूत्रों ने बताया कि इन 110 खातों 5 करोड़ से अधिक का लेन-देन इन लोगों द्वारा किया गया। राजीव तिवारी के द्वारा खुलवाये गये 60 से अधिक खातों, केपी यादव द्वारा खुलवाये गये 20 से अधिक खाता और बलराम सिंह के द्वारा अलग-अलग नामों से चलाये गये खातों की जांच आरंभ की गयी है।
इनका कहना है
जिलाध्यक्ष कांग्रेस ग्रामीण दिलीप मिश्रा ने कहा कि रामनिवास तिवारी पोंड़ी न कांग्रेस में थे न हैं। कांग्रेस में सेक्टर प्रभारी का कोई पद ही नहीं होता।
दिलीप मिश्रा, कांग्रेस
ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष रणजीत सिंह पटेल से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि रामनिवास तिवारी पोंड़ी कांग्रेस में किसी पद में नहीं हैं। सेक्टर प्रभारी पोंड़ी, उपेन्द्र पाण्डेय अधिवक्ता हैं। कांग्रेस के सदस्य हो सकते हैं मगर किसी पद में रामनिवास नहीं थे।
रणजीत सिंह
अध्यक्ष, ब्लाक कांग्रेस
विट्स स्कूल: सेनानी की फर्जी स्कूल से छात्रों का भविष्य अधर पर
शिक्षा को बेचने वाले सेनानी के चलते छात्रा और अभिवावक  थानों में नजर आते
सतना (मारुति एक्सप्रेस)।
जिले में उच्च शिक्षा के नाम पर शिक्षा को बेचने का काम करने वाला सुनील सेनानी एवं उसके मैनेजमेंट के फर्जीवाड़े के चलते जहां एक ओर कॉलेज कालेज कैंपस में आए दिन छात्रों का आपसी विवाद और उसके बाद छात्र और उनके अभिभावक पुलिस थानों में चक्कर काटते नजर आते हैं जिस तरह से कॉलेज कैंपस के अंदर छात्रों मे आपसी विवाद किस बात को लेकर होता है यह एक आम चर्चा का विषय है तो इस बात से ही जिले के छात्रों के अभिभावक यह अंदाजा लगा सकते हैं कि सेनानी जो की शिक्षा को बेचने का काम कर रहा है वह किस तरह के शिक्षा उसके कालेज एवं स्कूलों में दी जा रही है।
बिना मान्यता के ही सेनानी चला रहा था स्कूल
स्कूल शिक्षा विभाग के दलालों की मिलीभगत से फर्जी तरीके से शहर के अंदर स्कूल चलाने का गोरखधंधा और शिक्षा को बेचने का काम करने वाला सुनील सेनालि और उसके मैनेजमेंट की डायरेक्टरी से निकले डायरेक्टर आनंद ज्योति और स्कूल की संचालिका के नाम से सिद्धा सेनानी जो कि बताया जा रहा है कि यहां रहती ही नहीं तो किस तरह का मैनेजमेंट है कि उसके मैनेजमेंट के लोग जिले और प्रदेश में है ही नहीं तो इसी तरह की प्राथमिक शिक्षा छात्रों  को देंगे शिक्षा विभाग के सूत्रों की माने तो सेनानी की इस फर्जी स्कूल की मान्यता जब से स्कूल चली तो थी ही नहीं तो फिर इस फर्जी स्कूल के संचालन में किन-किन भ्रष्टाचारियों की मदद से शिक्षा को बेचने का गोरखधंधा किया गया वह भी एक जांच का विषय है।
प्राथमिक शिक्षा बिना मान्यता के उच्च शिक्षा के छात्रो पर अपराधिक छाप
शहरी क्षेत्र में चलने वाले फर्जी वेट्स स्कूल और इसके बाद उसी संस्थान के अंदर कॉलेज कैंपस में जिस तरह से फर्जीवाड़ा हो रहा उस से छात्रों के प्राथमिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक सिर्फ विवादों के साए में दी जा रही बताया जा रहा कि इस प्राथमिक शाला की मान्यता ही नहीं और किसी भी जनशिक्षक केंद्र में इसके रिकॉर्ड आज तक जमा ही नहीं हो पाए और वहीं दूसरी ओर उच्च शिक्षा के नाम पर जिस तरह से शिक्षक के व्यापार का गोरखधंधा सेनानी ग्रुप के द्वारा चलाया जा रहा है और उसके बाद कालेज कैंपस के अंदर जिस तरह से छात्रों में आपसी संघर्ष होता है और उसके बाद छात्रा और उनके अभिभावक पुलिस थानों के चक्कर लगाते रहते हैं उससे तो यही स्पष्ट होता है कि प्राथमिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक सिर्फ और सिर्फ अपराधिक छाप ही छात्रों पर लग रही है तो क्या जिले के अभिभावक अपने छात्रों को ऐसी संस्थाओं में शिक्षा लेने के लिए भेजेंगे जो की प्राथमिक शाला से लेकर उच्च शिक्षक कैंपस तक सिर्फ और सिर्फ बदनामी का दाग लग रहा है।
सोहावल बीआरसी और बाबू बना था फर्जी मान्यता  का दलाल
सेनानी की फर्जी स्कूल चलाने में शिक्षा के दलालों में मुख्य भूमिका निभाने वाले सोहावल विकासखंड के बीआरसी एसबी सिंह और जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में पदस्थ रहा बाबू राजीव अर्गल के भ्रष्टाचार और फर्जीवाड़े के चलते फर्जी तरीके से स्कूल चलाने का गोरख धंधा करने की सलाह सेनानी को इन्ही भ्रष्टाचारीओ दे कर रखी थी और इन शिक्षा के व्यापारियों के साथ बिट्स स्कूल में सेनानी की डायरेक्टरी से निकले डायरेक्टर आनंद ज्योति सिद्धा सेनानी एवम उज्जवल सेनानी जो कि शिक्षा के भ्रष्टाचार और गोरखधंधे चलाने में बाबू से लेकर विकासखंड बीआरसी एसबी सिंह के साथ मिलकर जिले के छात्र एवं अभिभावकों को मूर्ख बना रहे है।
सीएम हेल्पलाइन पर फर्जी मान्यता की शिकायत
विट्स स्कूल की फर्जी मान्यता की शिकायत जिले के अभिभावकों के द्वारा मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर की गई थी जिसकी जांच शिक्षा विभाग के प्रमुख कर रहे विभागीय सूत्र बताते हैं कि यह शिकायत एल4 पर पहुंच गई है जिसकी जिसकी जांच प्रमुख सचिव शिक्षा मध्य प्रदेश कर रही हैं शिकायत क्रमांक 3102216 पर की गई थी वैसे भी जिले के अभिभावक जब से अपने छात्रों को इस फर्जी स्कूल में दाखिला दिलवाया है तब से उनके छात्रों की प्राथमिक शिक्षा तो बर्बाद हो ही गई है अब कॉलेज के छात्रों के अविभावक भी इस फर्जीवाड़े से परेशान है क्योंकि वह उन को आयोजित पुलिस थानों के चक्कर लगाने पड़ते।
                 Image..                         Open a new window
Top News
 
अनुकंपा के लिए पद नहीं तो मिलेगी संविदा नियुक्ति, बदलेंगे नियम
 
मोदी के रमजान वाले बयान के खिलाफ चुनाव आयोग जाने की तैयारी में विपक्ष
 
उदयन को लेकर भोपाल पहुंची रायपुर पुलिस, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही सेल्फी
 
संभाग से ख़बरें
Bhopal
117.204.205.31A66192anukampa.jpgभोपाल। अनुकंपा नियुक्ति के लिए जिला या विभागों में पद नहीं होने पर अब आवेदकों को लंबा इंतजार नहीं करना होगा। इसकी जगह सरकार इन्हें संविदा नियुक्ति देगी
Satna
117.204.205.31A71289satna.jpgमोहन भागवत, शिवराज सहित आयेंगे कई व्हीआईपी
सतना (मारुति एक्सप्रेस)।
चित्रकूट में 24 फरवरी से 27 फरवरी तक चलने वाले ग्रामोदय मेले के आयोजन की तैयारियों को
Rewa
117.204.205.31A34238rewa.jpgवरिष्ठ पत्रकारों ने दिया खबरों को परिपूर्ण बनाने का मंत्र
रीवा . खबरों के पीछे के सत्य को तलाश कर खबर को परिपूर्ण बनाकर ही प्रिंट मीडिया में अपना अस्तित
 
Jabalpur
117.204.205.31A60799jabalpur.jpgजबलपुर। पत्नी को हनीमून की शानदार ट्रिप पर ले जाने की चाहत में अमखेरा निवासी जनाथन उर्फ सागर ने नेपियर टाउन स्थित मुस्कान हाईट्स में लूट की वारदात को अं
Indore
117.204.205.31A68238indore19022017b1.jpgमुख्यमंत्री ने सेंधवा में किया 29 करोड़ 94 लाख के 13 कार्यों का लोकार्पण
इन्दौर. प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को बड़वानी जिले के
Sagar
117.204.205.31A38056sagar.jpgपंचायत मंत्री ने शासकीय माध्यमिक शाला ऊमरा में बच्चों को पढ़ाया
सागर. शिक्षा का जीवन में अगल ही महत्व है। बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने से ही देशका भवि
खेल मनोरंजन फिल्म
इन भारतीय खिलाडिय़ों को मिली ऐसी रकम, सपने में भी नहीं सोचा होगा
पद्मावती विवाद- खिलजी ने इसी शीशे में देखी थी रानी पद्मिनी की झलक?
सोशल मीडिया पर फैली अभिनेत्री फरीदा जलाल की मौत की झूठी खबर!
Photo Albums
NO Photo available in this Album!!
 
विज्ञापन
Market Watch
Hot Pictures of the Day
 
 Yes
 No
 Cannot say
 
News paper PDF