एके 47 मामला- जांच के लिए आ सकती है एनआईए

जबलपुर। सीओडी से 70 एके-47 चोरी किए जाने के मामले में पुलिस को सीओडी के अफसरों की मिलीभगत का भी संदेह है। इस संस्थान में भारतीय सेना का हथियार, गोलाबारूद आने-जाने का पूरा रिकॉर्ड व सख्त पहरा रहता है। इसलिए मामले की जांच के लिए नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) की टीम भी जबलपुर आ सकती है। सीओडी में आने-जाने वाले माल की वीडियोग्राफी होती है और इस संस्थान के वरिष्ठ अधिकारी कंट्रोलरूम से लगातार नजर रखते हैं। इसके साथ ही संस्थान के मेन गेट पर तैनात डीएसबी के जवान आने-जाने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों व उनके वाहनों की तलाशी भी लेते हैं। आरोपित सुरेश ने आर्मरर पुरषोत्तम के लिए 70 एके-47 चुराकर देना कबूल किया है। दूसरे आरोपित पुरषोत्तम ने सभी 70 एके-47 बिहार, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र प्रांत में बेचना बताया है। इस मामले में सीओडी के अधिकारियों की रजामंदी के बिना एके-47 बाहर आना संभव नहीं है।
-------------