भैंस बेचकर अपना गुजारा करने को मजबूर हुआ पकिस्तान

इस्लामाबाद : पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में पैसों की कमी के चलते यहां की सरकार को भैंस बेचकर अपना गुजारा करना पड़ रहा है. पैसो की तंगी के चलते गुरुवार को पाकिस्तान सरकार ने 8 भैंसों की नीलामी कर 23 लाख रुपये बटोरे. पीएम आवास में मौजूद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की 8 भैंसों की नीलामी पाकिस्तान के वर्तमान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के आदेश पर की गई. इन सभी भैंसों की नवाज शरीफ ने अपना लजीज पकवान का शौक पूरा करने के लिए ख़रीदा था. पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ द्वारा सेहत संबंधी दिक्कतों के लिए प्रधानमंत्री आवास में रखी आठ भैंसों की नीलामी फिजूलखर्ची रोकने के अभियान के तहत की है. दरअसल पकिस्तान बड़े कर्ज और देनदारियों से जूझ रहा है इसलिए इस मुल्क के नए पीएम ने बड़ी कटौती का अभियान शुरू किया है. इस कटौती अभियान के तहत पिछले हफ्ते ही पाकिस्तान सरकार ने 61 लक्जरी कारों को बेचकर 2 करोड़ रुपये इक्कठा किये थे. पाकिस्तान सरकार की योजना बुलेटप्रूफ कारों समेत 102 कारे और मंत्रिमंडल द्वारा इस्तेमाल किये गए चार हेलीकाप्टर को बेचने की है. आपको बता दें प्रधान मंत्री आवास की 3 भैंसों और 5 भैंस के बच्चे बेचकर सरकार ने 23,02,000 रुपये मिले जमा किये हैं. इनमे से अधिकतर भैंसों को नवाज शरीफ के समर्थको ने ख़रीदा है. उनके एक कट्टर समर्थक काल्ब अली ने इनमे से एक भैस 3.85 लाख रुपये में खरीदी है जबकि इस भैंस की बाजार में असली कीमत 1.20 लाख रूपए ही हैं. इस बारे में अली का कहना है कि 'उन्होंने इस भैंस को नवाज शरीफ के प्रति अपने लगाव के कारण खरीदा है. वो इसे नवाज शरीफ और बहन मरियम शरीफ के प्रतीक के तौर पर रखेंगे.'

0 Comments