विदेशी आक्रमणकारियों के हमलों से सिर्फ भारतीय सभ्यता ही बच पायी है : मोहन भागवत

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने हाल ही में भारतीय सभ्यता और हिंदुत्व को लेकर कुछ बड़ी और अहम बातें कही है। इस दौरान उन्होंने कहा है कि भारतीय सभ्यता दुनिया की एक एकमात्र ऐसी सभ्यता है जो विदेशी आक्रमणकारियों के हमलों के बावजूद बची हुई है। दरअसल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत कल (बुधवार) शाम काशी हिन्दू विश्वविद्यालय बनारस के संस्थापक पंडित श्री मदन मोहन मालवीय के जीवन से जुडी एक पुस्तक के विमोचन उत्सव में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत आज हिन्दू बहुलता वाला एकमात्र देश है और भारतीय सभ्यता ही ऐसी एकमात्र सभ्यता है जो विदेशियों के आक्रमण के बावजूद सुरक्षित बची हुई है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि मदन मोहन मालवीय जैसे लोगों ने भारतीय सभ्यता को कठिन परिस्थितियों में भी बचाएं रखने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने पंडित श्री मदन मोहन मालवीय की अन्य कई खूबियों को गिनाते हुए यह भी कहा है कि आज भी देश को मालवीय जैसे लोगों की बहुत जरुरत है। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर के मुद्दे पर भी बात करते हुए कहा कि राम मंदिर का बनना तय है और इसे कोई नहीं ताल सकता।