जम्मू कश्मीर निकाय चुनाव: आतंक के साए में भी इन उम्मीदवारों ने दर्ज की निर्विरोध जीत

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के सबसे आतंकवाद प्रभावित इलाके शोपियां में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत तय है. जम्मू कश्मीर के दो प्रमुख राजनितिक दल पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) द्वारा निकाय चुनाव का बहिष्कार करने और आतंकवादियों की धमकियों के कारण अन्य नेताओं द्वारा उम्मीदवारी न भरने के कारण शोपियां जिले के स्थानीय निकाय में बीजेपी के 13 उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत तय हो गई है. आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में से एक शोपियां जिले में भाजपा के 13 उम्मीदवारों के सामने कोई अन्य उम्मीदवार खड़ा ही नहीं हुआ है, इसके साथ ही निकाय पर पार्टी का नियंत्रण पक्का हो गया है. उल्लेखनीय है कि शोपियां जिला में 17 सदस्यीय स्थानीय निकाय हैं, जिनमे से 13 पर भाजपा ने अपने उम्मीदवार उतारे थे, जबकि 4 अन्य सीटों पर किसी भी उम्मीदवार ने नामांकन नहीं भरा. राज्य के बीजेपी नेता इससे खुश नज़र आ रहे हैं, जम्मू-कश्मीर बीजेपी प्रमुख रविंद्र रैना ने कहा ‘हमारा लक्ष्य सभी का विकास और सभी लोगों के साथ न्याय करना है, हम इस जीत से बहुत खुश हैं. आपको बता दें कि अनुच्छेद 35 A और धारा 370 को लेकर केंद्र सरकार का विरोध करने वाली पीडीपी और एनसी ने चुनाव का बहिष्कार करने की चेतावनी देते हुए कहा था कि जब तक केंद्र सरकार 35 A और 370 पर अपना रुख स्पष्ट नहीं करती है, तब तक जम्मू कश्मीर में उनकी पार्टी चुनाव का बहिष्कार करेगी, यहाँ तक कि पीडीपी और एनसी ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव का भी बहिष्कार करने की धमकी दी थी.