2022 में भारतीय अंतरिक्ष यात्री को स्पेस स्टेशन भेजने में मदद कर सकता है रूस

मॉस्को : कई देश की स्पेस एजेंसी अंतरिक्ष के बारे में जानने की कोशिश कर रही है. इसमें अमेरिका, चीन और रूस जैसे देश शामिल हैं. अंतरिक्ष में कौनसा ग्रह रहने योग्य है इस बात का भी पता लगाया जा रहा है. इसी में भारत भी शामिल है जो किसी भी काम में पीछे नहीं है. खबर के अनुसार रूस की मदद से साल 2022 में भारतीय अंतरिक्ष को भी ट्रेनिंग मिशन के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्पेस स्टेशन भेजा जाना है जिसकी तैयारी चल रही है. जानकारी के अनुसार, रशियन स्पेस एजेंसी ने भारत को एक शॉर्ट ट्रेनिंग मिशन पर अंतरिक्ष यात्री को भेजने का प्रस्ताव दिया है. बताया जा रहा है यह मिशन साल 2022 में भारत के स्वतंत्र मानव अंतरिक्ष मिशन से पहले या फिर बाद में होगा. बता दें, अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पृथ्वी की निचली कक्षा में रहने योग्य कृत्रिम उपग्रह है. इस पर बताया जा रहा है कि अगर मिशन सफल रहा तो ऐसा करने वाला भारत चौथा देश बन जाएगा. आपकी जानकारी के लिए बतादें, कुछ समय पहले भी ये खबर आई थी कि इन्ही दो देशों के बीच इस मिशन की होड़ कि कौनसा देश चौथे स्थान पर आएगा. इसके पहले अमेरिका, रूस और चीन ही अंतरिक्ष में मानव को भेज चुके हैं लेकिन रूस फिर से इसमें शामिल हो रहा है. ये तो आप जानते ही हैं पूर्व एयरफोर्स पायलेट राकेश शर्मा अंतरिक्ष में जाने वाले पहले भारतीय थे. यह सोवियत यूनियन के सोयज टी-11 अभियान का हिस्सा थे, जिसे इंटरकोस्मोस कार्यक्रम के तहत 2 अप्रैल 1984 को लांच किया गया था.

0 Comments