गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले के बाद पुलिस अलर्ट

अहमदाबाद। गुजरात में कुछ दिनों पहले ही एक 14 साल की बच्ची के साथ हुई रेप की घटना के बाद से गुजरात में गैर गुजरातियों के खिलाफ हिंसा भड़क गई है। यह हिंसा दिनोदिन बढ़ती ही जा रही है। इस हिंसा ने काफी कम समय में ही बेहद रूद्र ले लिया है और अब गुजरात पुलिस भी इस हिंसा के दौरान कोई बड़ी अनहोनी से बचने के लिए पहले ही अलर्ट हो गई है। गुजरात में गैर गुजरातियों के प्रति भड़क रही इस हिंसा के मामले में पुलिस ने अब तक 342 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही राज्य के विभिन्न थानों में इस हिंसा से जुड़े 42 केस दर्ज करवाए गए है। यह जानकारी गुजरात पुलिस के महानिदेशक शिवानंद झा ने हाल ही में इस मामले से जुड़ी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी है। इस दौरान उन्होंने बताया कि यह हिंसा मुख्य रूप से गुजरात के छह जिलों में भड़की है जिनमे से साबरकांठा और मेहसाणा जिले सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। इस कांफ्रेंस में गुजरात पुलिस के महानिदेशक शिवानंद झा ने यह भी बताया कि गुजरात के कई इलाकों में अभी भी तनाव का माहौल बने होने के मद्देनजर पुलिस को भी अलर्ट रहने के आदेश दे दिए गए है। शिवानंद झा के मुताबिक इसके लिए राज्य के प्रभावित क्षेत्रों में सीआरपी (राज्य रिजर्व पुलिस) की 17 कंपनियों को तैनात किया गया है। इन सभी दलों ने हिंसा से प्रभावित इलाकों में गस्त भी बढ़ा दी है।