सिंधिया बोले- मैं कामदार, मोदी नामदार

शिवपुरी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तक राहुल गांधी को नामदार और खुद को कामदार बताते रहे हैं, लेकिन गुना-शिवपुरी सीट से नामांकन दाखिल करने पहुंचे कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मोदी को नामदार और खुद को कामदार बता दिया। बोले- मैंने पांच साल पहले अपनी जनता से जो वादा किया था, वो पूरा किया। मैंने वादा किया था कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी तो शिवपुरी में अधूरी पड़ी पेयजल योजना छह महीने में पूरी कर दूंगा, चार माह में ही ओव्हर हैड टैंक तक पानी पहुंच गया है, दो दिन में घर-घर में पानी पहुंच जाएगा। सिंधिया ने शनिवार को नामांकन दाखिल करने बाद गांधी मैदान में बड़ी जनसभा की। इसके पहले वह काफिले के साथ 115 किमी दूर गुना से शिवपुरी पहुंचे। उन्होंने शिवराज सिंह चौहान पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया। तंस कसा कि कांग्रेस सरकार बनते ही शिवपुरी की जनता को मेडिकल कॉलेज की सौगात मिल गई। शिवपुरी से देवास सिक्स लेन मंजूर हो गया। चंदेरी में पावरलूम बार भी खुल चुका है।
मोदी की असलियत सब जान चुके हैं : ज्योतिरादित्य
कांग्रेस के समक्ष क्या चुनौतियां हैं? - हमारे समक्ष जो चुनौतियां हैं वो ही अवसरों के द्वार खोल रही हैं। हम अपनी लड़ाई मजबूती से लड़ रहे हैं। मोदी की असलियत सब जान चुके हैं। वह देश तोड़ रहे हैं। धार्मिक कट्टरता और उन्माद देश को कमजोर बनाएगी। 
पांच साल में कांगेस ने क्या किया? - भाजपा के पांच साल में देश में आतंकी हमले तीन गुना बढ़े, बेरोजगारी दल 45 साल में सबसे ज्यादा हुई, घृणा अपराध बढ़े, स्वतंत्र संस्थाएं सरकार ने मुठ्?ठी में बांध रखी हैं। ये काम हमने नहीं किए। हमने पांच साल विकास किया है और आगे भी वही करेंगे।
धर्म और राजनीति के घाल मेल को किस तरह देखते हैं? - कांग्रेस की विचारधारा हमेशा यही रही है कि धर्म एक निजी मामला है, इसका राजनीति से कुछ लेना-देना नहीं। सरकार के लिए हर भारतीय नागरिक एक सामान है। यह तो भाजपा है जो खुले आम धर्म के नाम पर लोगों को बांटने का काम करती है। हाल में योगी और मेनकाजी के भाषण सुन लीजिए।
भाजपा कांग्रेस पर पारिवारवाद का आरोप लगाती है?  - राजनीति में परिवारवाद और वंशवाद की बात करें, तो यह भारत के प्रजातंत्र की अवहेलना है, क्योंकि प्रत्याशी चुनाव जीतकर आता है, जनता सब जानती है और सोच समझ कर ही मत देती है, किसी को भी सिर्फ इसलिए वोट नहीं मिलता कि वो किसी का बेटा या बेटी है। मोदी वंशवाद की बात करते हैं, कभी अपनी पार्टी में झांककर नहीं देखते। सबसे बड़ा परिवारवाद तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ चलाता है।
भाजपा को झटका, राकेश चौधरी छह साल बाद फिर कांग्रेस में : छह साल पहले कांग्रेस से भाजपा में गए चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी ने फिर से कांग्रेस ज्वाइन कर ली। उन्होंने सिंधिया के गले लगकर पार्टी की सदस्यता ली। बोले- भाजपा में जाना भूल थी, अब सिंधिया और कांग्रेस के साथ रहूंगा।
35.32 करोड़ के मालिक हैं सिंधिया, 337 करोड़ की पैतृक संपत्ति भी : ज्योतिरादित्य सिंधिया कुल 35.32 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्ति के मालिक हैं। इस बार नामांकन के साथ दिए शपथ पत्र में उन्होंने अपने दादा जीवाजीराव सिंधिया के नाम की पैतृक संपत्ति का उल्लेख भी किया है। उनके नाम पर कुल 337 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्ति है। जिसमें 11.71 करोड़ रुपए की ज्वैलरी सहित कुल चल संपत्ति 40 करोड़ 86 लाख रुपए और अचल संपत्ति 297 करोड़ रुपए है। 2012-13 में सिंधिया की आय 40 लाख रुपए थी, जो अब बढ़कर 1 करोड़ 51 लाख रुपए से ज्यादा हो गई है। उनके नाम से शेयर मार्केट में 10 लाख रुपए हैं। ट्रस्ट आदि को 17.16 लाख रुपए दिए हैं। उनके पास 1960 मॉडल की बीएमडब्ल्यू गाड़ी है।
------------

0 Comments