अंपायर के फैसले से नाखुश पोलार्ड ने उठाया ऐसा कदम, रोकना पड़ा मैच

मुंबई इंडियंस रविवार को हैदराबाद में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ आईपीएल 2019 के फाइनल में 8 विकेट पर 149 रन बना पाया। इस मैच के दौरान अंतिम ओवर में खेल कुछ देर के लिए थम गया जब बल्लेबाज किरोन पोलार्ड स्ट्राइक लेते समय पिच के बाहर चले गए। इस नाटकीय घटनाक्रम के दोनों अंपायरों ने बल्लेबाज से बात की और फिर खेल शुरू हुआ। ड्वेन ब्रावो मुंबई की पारी का अंतिम ओवर डाल रहे थे। ब्रावो ने दूसरी गेंद धीमी डाली जो फुल लेंथ थी और ऑफ स्टंप के बाहर थी, पोलार्ड ने दाई तरफ निकलकर इसे खेलने का प्रयास किया, वे चूके। ब्रावो ने अगली गेंद फिर ऑफ स्टंप के बहुत बाहर डाली, पोलार्ड ने इसे छोड़ दिया लेकिन जब अंपायर नितिन मेनन ने इसे वाइड करार नहीं दिया तो पोलार्ड के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने गुस्से में अपने बल्ले को हवा में बहुत उपर उछाल दिया। पोलार्ड ने ब्रावो की अगली गेंद पर पिच के कोने पर जाकर स्ट्राइक ली और जैसे ही ब्रावो रनअप पर आए तो पोलार्ड पिच के बाहर निकल गए। उन्हें ऐसा करते देख ब्रावो ने गेंद नहीं डाली। इसके बाद अंपायर नितिन मेनन और इयान गोल्ड ने जाकर पोलार्ड से बात की। उन्होंने यह समझने की कोशिश की कि पोलार्ड ने ऐसा कदम क्यों उठाया। पोलार्ड इस मैच में 25 गेंदों में नाबाद 41 रन बनाए। उन्होंने 3 चौके और 3 छक्के लगाए। क्विंटन डी कॉक ने 29 और इशान किशन ने 23 रनों को योगदान दिया।
--------------

0 Comments