सुप्रीम कोर्ट/रमजान में जल्दी मतदान की मांग: चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ दायर याचिका खारिज

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को रमजान में मतदान का समय बदलने की मांग संबंधी याचिका को खारिज कर दिया। चुनाव आयोग यह मांग पहले ही ठुकरा चुका था, जिसके खिलाफ यह याचिका लगाई गई थी। शीर्ष अदालत ने कहा- चुनाव आयोग को विशेषाधिकार है। उसने जो फैसला दिया है वह सही है।
वकील निजामुद्दी पाशा ने यह याचिका लगाई थी। इसमें कहा गया था कि रमजान को ध्यान में रखते हुए आखिरी चरण का मतदान सुबह सात बजे की बजाय पांच बजे से शुरू कराया जाए, ताकि रोजेदारों को मतदान में कोई परेशानी भी न हो। रमजान सात मई से शुरू हो चुके हैं।
चुनाव आयोग ने कहा था- मतदान अधिकारियों पर पहले ही ज्यादा बोझ
चुनाव आयोग ने रमजान के दौरान वोटिंग का समय बदलने से इनकार करते हुए कहा था कि मतदान अधिकारी पहले से ही बढ़े हुए घंटों में काम कर रहे हैं। हर राज्य में सूर्योदय का समय अलग-अलग होता है। अगर मतदान सूर्योदय से पहले शुरू होगा तो अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था और प्रशासनिक बदलाव करने होंगे। ऐसे में अब इसमें फेरबदल मुमकिन नहीं है।
चुनाव आयोग ने एक कमेटी बनाई थी
दरअसल, दो वकीलों मोहम्मद निजामुद्दीन पाशा और असद हयात की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। कोर्ट ने चुनाव आयोग से इस मामले में फैसला लेने को कहा था। याचिका पर विचार करने के लिए चुनाव आयोग ने अधिकारियों की एक कमेटी बनाई थी।

0 Comments