दिल्ली में हुई हार की समीक्षा; कांग्रेस नेताओं ने एक दूसरे पर लगाए आरोप, बाहर आने पर आपस में भिड़े

लखनऊ.लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के अपेक्षित प्रदर्शन न कर पाने के बाद मंगलवार को दिल्ली में एक समीक्षा बैठक बुलाई गई थी। कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व द्वारा आयोजित की गई इस बैठक में उत्तर प्रदेश में पार्टी को मिली हार की समीक्षा की जानी थी। लेकिन इसी दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ कांग्रेसी नेताओं के बीच आपस में गरमागरम बहस हो गई। सूत्रों के मुताबिक हालांकि इस दौरान गाजियाबाद के कांग्रेस नेता के के शर्मा उग्र दिखायी दिए। के के शर्मा की शिकायत ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर थी। उनका कहना था कि चुनाव के समय कई बार उनसे मुलाकात करने का सयम मांगा लेकिन उन्होंने हमेशा ही नजरअंदाज कर दिया। इस बात को जब वह भरी बैठक में बोल रहे थे उसी समय सिंधियां भी उत्तेजित हो गए। दोनों के बीच काफी बहस हो गई जिसको वहां मौजूद नेाताओं ने शांत कराया। 
सूत्रों ने बताया कि दूसरा माामला गाजियाबाद के नेता हरेंद्र कसाना और गाजियाबाद के कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र भारद्वाज के बीच हुआ। नरेंद्र की बेटी डॉली शर्मा ने गाजियाबाद से चुनाव लड़ा था। भरी बैठक के बीच ही हरेंद्र कसाना ने डॉली शर्मा की शिकायत कर दी। बैठक में तो नरेंद्र चुप रहे लेकिन जैसे ही बैठक समाप्त होने के बाद बाहर निकले दोनों नेता आपस में भिड़ गए। इस बैठक में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 10 जिलों के नेताओं को बुलाया गया था। बैठक में यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर और पश्चिमी यूपी के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया मौजूद थे। हालांकि इस मामले को लेकर जब उप्र के कांग्रेस के प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत से पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी जानकारी होने से इंकार कर दिया। 
----------

0 Comments