इमरान ने लोगों से कहा, 30 जून तक कालेधन की घोषणा करें

इस्लामाबाद। आर्थिक संकटों का सामना कर रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कालेधन के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि जो लोग 30 जून तक अपनी अघोषित संपत्तियों की घोषणा नहीं करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए संघीय बजट की घोषणा से एक दिन पहले सोमवार को देश को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा, अगर हम महान देश बनना चाहते हैं तो हमें अपने आपको बदलने की जरूरत है।" खान ने कहा, "मेरी आप सभी से गुजारिश है कि आप सरकार द्वारा लाए गए संपत्ति घोषणा योजना में शामिल हों, क्योंकि अगर हम कर नहीं देंगे, तो हम अपने देश का विकास करने में सक्षम नहीं होंगे। प्रधानमंत्री खान ने कहा कि लोगों के पास अपनी बेनामी संपत्तियों, बेनामी बैंक खातों और विदेश में रखे बेनामी धन की घोषणा करने के लिए 30 जून तक का वक्त है। बेनामी संपत्ति वह है, जिसे कोई दूसरों के नाम पर रखता है। खान ने कहा, 30 जून के बाद आपको यह मौका नहीं मिलेगा। हमारी एजेंसियों के पास उन लोगों के बारे में जानकारी है, जिनके पास बेनामी संपत्तियां और बेनामी खाते हैं। उन्होंने कहा, पिछले 10 वर्षों में पाकिस्तान का कर्ज छह हजार अरब रुपए से बढ़कर 30,000 अरब रुपए पर पहुंच गया है।" ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि देश में जमा होने वाले लगभग चार हजार अरब रुपए के कर में से आधी रकम कर्ज के भुगतान में चली जाती है। अगर हम चाहें तो 10,000 अरब रुपये तक का कर संग्रह आसानी से हो जाएगा। उन्होंने कहा, देश के पास अपने खर्चे के लिए पैसे नहीं बचे हैं। पाकिस्तान दुनिया उन दुर्भाग्यशाली देशों में शामिल है जहां बहुत कम लोग टैक्स देते हैं, जबकि उन चुनिंदा देशों में शुमार है जहां बड़ी संख्या में लोग दान देते हैं। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से हाल ही में पाकिस्तान को कर्ज से उबरने के लिए छह अरब डॉलर की मदद मिली थी।
--------

0 Comments